इस हालत में सड़क पर पड़ी मिली थी यह एक्ट्रेस!!

हैदराबाद.साउथ इंडियन फिल्म इंडस्ट्री में इन दिनों कास्टिंग काउच का मुद्दा छाया हुआ है। पहले श्री रेड्डी ने फेमस प्रोड्यूसर के बेटे पर काम के बदले सेक्स की डिमांड का आरोप लगाया। फिर कैरेक्टर आर्टिस्ट सुनीता ने कहा कि एक क्रिटिक ने उनका रेप करने की कोशिश की थी। इसके बाद एक्ट्रेस संध्या नायडू ने एक कास्टिंग डायरेक्टर पर सेक्शुअल हैरेसमेंट का आरोप लगाया। अगर इन मामलों को देखने के बाद फ्लैशबैक में जाएं तो 80 के दशक की एक्ट्रेस निशा नूर की याद आती है। वही निशा नूर, जिन्हें प्रोड्यूसर के स्वार्थ के चलते एड्स जैसी गंभीर बीमारी हो गई थी और जो आखिरी वक्त में सड़क पर पड़ी मिली थीं। Nisha Noorनिशा को एक प्रोड्यूसर ने धोखे से प्रॉस्टिट्यूशन में धकेल दिया था। इसके बाद हुआ यह कि इंडस्ट्री के सभी लोग उनसे दूर हो गए। जब कोई चारा नहीं दिखा तो निशा ने हमेशा के लिए इंडस्ट्री छोड़ दी। लेकिन इसके बाद उनके हालात और खराब हो गए। कहा जाता है कि वे कंगाली से जूझती रहीं, बीमारी से लड़ती रहीं, लेकिन इंडस्ट्री से कोई उन्हें देखने तक नहीं पहुंचा था।Nisha Noorइंडस्ट्री छोड़ने के बाद बाद धीरे-धीरे निशा के आर्थिक हालात बिगड़ते गए। फिर उनकी मां की भी मौत ही गई और वे अकेली रह गईं। आखिरी दिनों में हालत इतनी खराब हो चुकी थी कि उन्हें सड़क पर पड़ी पाया गया था। इस दौरान वे जिंदगी की आखिरी सांसें गिन रही थीं। NGO Tamil Nadu Muslim Munnetra Kazagham ने उन्हें चेन्नई के पास एक अस्पताल में भर्ती कराया तो पता चला कि उन्हें एड्स था। 2007 में निशा जिंदगी की जंग हार गईं। जब निशा को नागोर की दरगाह के पास पड़ा पाया गया तो उनके शरीर पर कीड़े और चींटियां रेंग रहे थे

Nisha Noor

निशा की कुछ पॉपुलर फिल्में

कल्याण अगथिगल (1986), ‘अय्यर द ग्रेट’ (1990), टिक टिक टिक (1990), चुवाप्पू नाडा’, ‘मिमिक एक्शन 500’ और ‘इनिमई इधो’।नाम सुनने में भले ही अनसुना लगे, लेकिन 1980 से 1986 के बीच निशा साउथ इंडियन फिल्म इंडस्ट्री में बहुत पॉपुलर थीं। कथिततौर पर उनकी पॉपुलैरिटी का आलम कुछ ऐसा था कि रजनीकांत और कमल हासन जैसे बड़े स्टार्स भी उनके साथ काम करना चाहते थे। कुछ फिल्मों में निशा इन स्टार्स के साथ दिखी भी थीं। हालांकि, इतनी पॉपुलर होने के बाद भी निशा को जो मुकाम मिलना चाहिए था, वो नहीं मिला।

Comments

comments